सीएम शिवराज सिंह चौहान का ऐलान, राज्य के एक लाख पदों पर जल्द होगी भर्तियां

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के युवाओं के लिए खुशखबरी है. दरअसल राज्य सरकार विभिन्न पदों के लिए वैंकेंसी निकालने वाली है. राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने 13 सितंबर को कहा कि राज्य में जल्द ही एक लाख खाली पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू होगी.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के अचारपुरा औद्योगिक क्षेत्र में गोकुलदास एक्सपोर्ट्स लिमिटेड की रेडिमेड गारमेंट्स इकाई के भूमि-पूजन कार्यक्रम के दौरान जनता को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने टेक्सटाईल पार्क अचारपुरा और विशेष शिक्षा क्षेत्र तथा औद्योगिक क्षेत्र अचारपुरा में जल आपूर्ति परियोजना कार्य का भी लोकार्पण किया. इस कार्यक्रम में औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, विधायक बैरसिया विष्णु खत्री, गोकुलदास एक्सपोर्टस के प्रबंध संचालक शिवराम कृष्ण गणपति भी शामिल थे.

राज्य सरकार की प्राथमिकता रोजगार है

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता युवाओं को रोजगार देना है. कुछ दिनों के भीतर ही एक लाख पदों पर भर्ती होगी. राज्य सरकार द्वारा रोजगार के अवसर पैदा करने के साथ-साथ उद्यमिता, स्वरोजगार को भी बढ़ावा दिए जाने पर भी काम किया जा रहा है. निजी क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं. इसे देखते हुए प्रदेश में औद्योगिक विकास और औद्योगिक निवेश की गति तेज कर दी गई है’.

गोकुलदास एक्सपोर्ट्स में 4000 से लोगों को मिलेगा रोजगार

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि गोकुलदास एक्सपोर्ट्स द्वारा प्रस्तावित इकाई 10 एकड़ भूमि पर बनाई जाएगी. इस एक्सपोर्ट्स में 4000 से ज्यादा स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा.

एससी-एसटी एक्ट की तर्ज पर सामान्य वर्ग आयोग बनेगा

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में होने वाले उपचुनाव से पहले सियासी दांव चला. सीएम ने घोषणा किया कि राज्य में अनुसूचित जाति और जनजाति आयोग की तरह ही सामान्य वर्ग आयोग का भी गठन होगा.

उन्होंने कहा कि सामाजिक समानता बनी रहनी चाहिए और सबको न्याय मिलना चाहिए. अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए पहले से आयोग बना हुआ है इसके अलावा पिछड़ा वर्ग आयोग भी बना हुआ है लेकिन सामान्य वर्ग के लिए कोई आयोग नहीं है.

New Education Policy लागू करने वाला देश का दूसरा राज्य बना मध्य प्रदेश, जानिये क्या है नई शिक्षा नीति

राजनीतिक दल किसे कहते हैं, राष्ट्रीय पार्टी क्या है, क्षेत्रीय पार्टी क्या है?