बांग्लादेश के दुर्गा पंडालों में हुई हिंसा, शुभेन्दु अधिकारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों और मूर्तियों की तोड़-फोड़ की घटनाएं सामने आई हैं. इस हमले के बाद बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की तीखी आलोचना हो रही है. शेख हसीना ने इस हिंसा की घटना को लेकर कहा, ‘इस हमले में शामिल किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की आरोपी किस धर्म का है’. पीएम शेख हसीना ने वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए ढाका में ढ़ाकेश्वरी नेशनल टेंपल के इंवेंट में शामिल हुई थीं.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया कि केंद्र सरकार, दुर्गा पूजा पंडालों में हुए हमलें की घटनाओं को लेकर बांग्लादेश सरकार से बातचीत कर रही है.

शुवेंदु अधिकारी ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र

इस घटना के बाद पश्चिम बंगाल के विपक्ष के नेता शुवेंदु अधिकारी ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा. उन्होंने ट्वीट किया, ‘कमिला जिले में मंदिरों और दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ और सोशल मीडिया के माध्यम से फैली अफवाहें निराशाजनक है. अपनी मर्जी से मां दुर्गा की मूर्तियों को अपवित्र करना सनातनी बंगाली समुदाय पर एक सुनियोजित हमला है. मैं माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी और गृहमंत्री अमित शाह से आग्रह करता हूं कि बांग्लादेश में हुए इस घटना पर तुरंत कार्रवाई करें.’

अफवाह के कारण भड़की हिंसा

खबरों में मुताबिक, एक फेसबुक पोस्ट के कारण हिंसा भड़की थी. जिसके बाद दुर्गा पंडालों में तोड़फोड़ हुई. बाडीन्यूज24 की खबर के मुताबिक, बांग्लादेश के कोमिल्ला जिले में एक पूजा पंडाल में कुरान के कथित अपमान की अफवाह से जुड़ा एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हुथा था. जिसके बाद चांदपुर के हबीबगंज, चटगाँव के बांसखाली, कॉक्स बाज़ार के पेकुआ और शिवगंज के चापाईनवाबगंज समेत अन्य कई इलाकों में हिंसा भड़क उठी और दुर्गा पंडालों में तोड़फोड़ की गई.

नवरात्रि के मौके पर परिवार के साथ नजर आईं काजोल

सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज नरीमन ने देशद्रोह कानून और UAPA को बताया अंग्रेज़ों का कानून