4 अक्टूबर को 7 राज्यसभा सीटों पर होगा चुनाव, 2 BJP, 2 कांग्रेस, 1 TMC और 1 सीट DMK को मिल सकती है

राज्यसभा (Rajya Sabha) की सात सीटों पर चुनाव की औपचारिक घोषणा हो चुकी है. 4 अक्टूबर को इस सीटों के लिए वोटिंग होगी. तमिलनाडु की दो सीट, पुदुचेरी, असम, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल की एक सीट पर चुनाव होगा.

खबरों के मुताबिक कांग्रेस राज्यसभा (Rajya Sabha) के दो सीटों पर चुनाव लड़ सकती है. जिसमें एक सीट महाराष्ट्र और दूसरी सीट तमिलनाडु की है. तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के दौरान सीट शेयरिंग फॉर्मूले के तहत डीएमके ने एक सीट कांग्रेस को देने का वादा किया था. दूसरी सीट, महाराष्ट्र के राज्यसभा सांसद राजीव सातव के निधन के बाद खाली हुई थी.

Source- India Tv

बीजेपी के खाते में जा सकती है दो सीट

राज्यसभा की सात सीटों में से दो सीट बीजेपी के खाते में जा सकती है. पहली सीट मध्य प्रदेश और दूसरी सीट असम की है. असम से पूर्व सीएम और केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल राज्यसभा जा सकते हैं वहीं थावरचंद गहलोत को राज्यपाल बनाने के बाद मध्य प्रदेश की सीट खाली हो गई थी.

कांग्रेस एक बार फिर गुलाम नबी आजाद को भेज सकती है राज्यसभा

कांग्रेस एक बार फिर से गुलाम नबी आजाद को राज्यसभा भेज सकती है. गुलाम नबी आजाद के अलावा मुकुल वासनिक, मिलिंद देवड़ा, संजय निरुपम और प्रमोद तिवारी भी राज्यसभा की रेस में शामिल हैं. तमिलनाडु के दो राज्यसभा सीटों में एक सीट कांग्रेस और एक सीट डीएमके को मिलने की उम्मीद है.

महाराष्ट्र से कांग्रेस के तीन दावेदार

राजीव सातव के निधन के बाद महाराष्ट्र की खाली हो गई थी. राज्यसभा की इस सीट के लिए कांग्रेस के तीन दावेदार हैं. अनुसूचित जाति से ताल्लुक रखने वाले मुकुल वासनिक, राहुल गांधी के करीबी मिलिंद देवेड़ा और मुंबई कांग्रेस के पू्र्व अध्यक्ष संजय निरूपम अपनी जुगत लाने में लगे हुए हैं. संजय निरूपम ने हाल ही में दिल्ली आकर राहुल गांधी से मुलाकात की. वहीं मुकुल वासनिक ने अपना फैसला पार्टी नेतृत्व पर छोड़ दिया है.

टीएमसी से दो दावेदार

पुडुचेरी की सीट को लेकर कहना मुश्किल है कि यह सीट बीजेपी के खाते में जाएगी या क्षेत्रीय दल के. वहीं पश्चिम बंगाल की एक सीट पर चुनाव होना है. यह सीट टीएमसी को मिलना तय है. राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सुस्मिता देव को राज्यसभा भेजने का फैसला लिया है.

अलीगढ़ के ताले घर की सुरक्षा करते थे, अब डिफेंस कॉरिडोर देश की रक्षा करेगा- पीएम नरेंद्र मोदी