गुजरात के CM विजय रुपाणी ने दिया इस्तीफा, हाल ही में भाजपा ने 4 राज्यों में 4 बार बदले मुख्यमंत्री

गुजरात (Gujarat) के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी (Vijay Rupani) ने विधानसभा चुनाव से पहले अचानक इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि पार्टी में समय के साथ दायित्व बदलते रहते हैं, बीजेपी (BJP) में यह स्वभाविक प्रक्रिया है. मुझे 5 साल के लिए जिम्मेदारी मिली जिसे मैंने ईमानदारी के साथ पूरा किया. खबरों के मुताबिक बीजेपी (BJP) में यह बदलाव आगामी चुनाव के कारण हुआ है. माना जा रहा है कि जनता विजय रुपाणी से नाराज है.

नए मुख्यमंत्री की रेस में चार नेता शामिल

विजय रुपाणी के इस्तीफे के बाद बीजेपी ने 12 सितंबर को विधायक दल की बैठक बुलाई है. इस बैठक में नए मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लग सकती है. नए सीएम की रेस में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया, केंद्रीय मत्स्य एवं पशुपालन मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला, गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल और गुजरात भाजपा के अध्यक्ष सीआर पाटिल शामिल हैं.

10 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में हुए थे शामिल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 सितंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अहमदाबाद में सरदारधाम भवन का उद्धाटन किया. इस कार्यक्रम में विजय रुपाणी भी शामिल हुए थे.

पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में चुनाव लड़ेगी बीजेपी

विजय रुपाणी ने कहा, ‘जेपी नड्डा जी पार्टी का मार्गदर्शन करते रहेंगे. मुझे अब जो जिम्मेदारी मिलेगी मैं उसका निर्वहन करूंगा. गुजरात विधानसभा चुनाव पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लड़ा जाएगा’.

182 में से 99 सीट जीतकर सत्ता में आई थी बीजेपी

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 182 सीटों में 99 सीटें जीतकर सत्ता में आई थी. विजय रुपाणी ने 26 दिसंबर साल 2017 को दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी.

Source- Amar Ujala

भाजपा ने 4 राज्यों में 4 बार बदले मुख्यमंत्री

भाजपा शासित राज्यों में विजय रुपाणी चौथे ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इससे पहले कर्नाटक और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों ने इस्तीफा दिया था.

कर्नाटक में येदियुरप्पा ने दिया था इस्तीफा

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने जुलाई में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. उनकी स्थान पर लिंगायत समुदाय से आने वाले बसवराज सोमप्पा बोम्मई को राज्य का नया मुख्यमंत्री बनाया गया है. येदियुरप्पा ने साल 2019 में चौथी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी.

3 महीने के भीतर दो बार बदल चुके हैं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री

साल 2017 में चुनाव जीतकर भाजपा ने त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया लेकिन पांच साल पूरे होने से पहले ही उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा. उनके स्थान पर 10 मार्च साल 2021 को तीरथ सिंह रावत राज्य के नए मुख्यमंत्री बने लेकिन उन्हें भी तीन महीने के भीतर सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा. इस वक्त उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हैं.

असम में सर्बानंद सोनोवाल की जगह सरमा को बनाया गया मुख्यमंत्री

साल 2016 में बीजेपी पहली बार असम की सत्ता में आई और सर्बानंद सोनोवाल को राज्य का सीएम बनाया गया. इसके बाद बीजेपी ने साल 2021 के विधानसभा चुनाव में सोनोवाल को मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर प्रस्तुत नहीं किया. चुनाव के नतीजे आने के बाद सर्बानंद सोनोवाल की जगह हिमंत बिस्वा सरमा का नाम मुख्यमंत्री के तौर पर घोषित किया गया. हालांकि 7 जुलाई को कैबिनेट विस्तार के समय सोनोवाल को केंद्रीय मंत्री बनाया गया.

Caste Census 2021: क्या केंद्र सरकार जातिगत जनगणना नहीं करवाना चाहती है, आखिरी बार 1931 में हुई थी