भारत का अनोखा रेलवे स्टेशन, जिसका कोई नाम न होने से यात्री होते हैं परेशान

भारतीय रेलवे दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क में से एक है. इतना ही नहीं 67,368-किलोमीटर (41,861 मील) की लंबाई के साथ मार्च 2017 तक भारतीय रेलवे दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क था. भारत में रेलवे स्टेशनों की कुल संख्या 8000 के आस-पास है. इनमें कई ऐसी रेलवे स्टेशन हैं, जो काफी प्रसिद्ध हैं. लेकिन भारत में एक ऐसा भी अनोखा रेलवे स्टेशन है जिसका कोई भी नाम नहीं है. यह स्टेशन पश्चिम बंगाल में है जिसका अपना कोई नाम नहीं है. स्टेशन पश्चिम बंगाल में बर्धमान से लगभग 35 किमी दूर स्थित है.

Raina-Railway-Station
Source-sandesh.com

कहां है यह रेलवे स्टेशन और क्यों है यह बेनाम

यह रेलवे स्टेशन दो गांवों रैना और रैनागढ़ के बीच में है. बांकुरा-मैसग्राम रेल लाइन पर स्थित यह स्टेशन पहले रैनागढ़ के नाम से जाना जाता था. वहीं रैना गांव के लोगों को यह बात पसंद नहीं आई और दोनों गांवों के बीच स्टेशन के नाम को लेकर झगड़ा शुरू हो गया, क्योंकि इस स्टेशन की बिल्डिंग का निर्माण रैना गांव की जमीन पर किया गया था. इसलिए वहां के लोगों का मानना था कि इसका नाम रैना ही होना चाहिए.

Raina-Railway-Station
Source-sandesh.com

बेनाम स्टेशन की वजह से यात्रियों को होती है दिक्कत

यह झगड़ा रेलवे बोर्ड तक पहुंच गया, जिसके बाद भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने यहां लगे सभी साइन बोर्ड्स से स्टेशन का नाम मिटा दिया. इसका असर बाहर से आने वाले यात्रियों पर देखने को मिला. इसके चलते उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. नाम न होने के कारण यात्रियों को दूसरे लोगों से इसके बारे में पूछना पड़ता है. हालांकि रेलवे अभी भी स्टेशन के लिए टिकट इसके पुराने नाम रैनागढ़ से ही जारी करती है.

Ajay Devgn, राम चरण, Jr. NTR और आलिया ने RRR के लिए ली बम्पर फीस, तोड़े सभी स्टार्स के रिकाॅर्ड