काशी विश्वनाथ मंदिर की तर्ज पर विंध्याचल में बनेगा विशाल कॉरिडोर, 1 अगस्त को गृहमंत्री अमित शाह करेंगे शिलान्यास

उत्तर प्रदेश में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की तर्ज पर मिर्जापुर में विंध्याचल कॉरिडोर बनेगा. विंध्याचल में हजारों भक्त मां विध्यवासिनी के दर्शन करते हैंं. हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि वाराणसी में विश्वनाथ मंदिर में पूजा करने के बाद मिर्जापुर में मां विंध्यवासिनी की पूजा बिना तीर्थ यात्रा अधूरी रहती है. खबरों के मुताबिक अगले दो-तीन महीनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्धाटन कर सकते हैं.

गृहमंत्री अमित शाह रखेंगे शिलान्यास-

विंध्याचल कॉरिडोर का शिलान्यास 1 अगस्त को गृहमंत्री अमित शाह करेंगे. अमित शाह यहां लगातार आते रहे हैं, उनके दौरे से पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मिर्जापुर में प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया. विंध्याचल कॉरिडोर की आधारशिला रखने के बाद अमित शाह जीआईसी ग्राउंड में लोगों को संबोधित करेंगे.

Source- Amar Ujala

सीएम योगी आदित्यनाथ विंध्याचल मंदिर को भव्य बनाने की योजना बना रहे हैं. पहले चरण के लिए करीब डेढ़ सौ करोड़ रुपये का बजट रखा गया है. वहीं पूरे प्रोजेक्ट के लिए 300 करोड़ से ज्यादा का बजट रखा गया है. मिर्जापुर के कमीश्नर योगेश्वर राम मिश्र के अनुसार कॉरिडोर का काम शुरू हो चुका है. मंदिर के लिए करीब 800 मकानों की जमीन अधिग्रहित की जाएगी. मुख्य रोड से मंदिर के गेट तक 40 फीट लम्बी सड़क बनाई जाएगी.

Source- Patrika

पूर्वांचल के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है विंध्यवासिनी मंदिर-

पुराणों के अनुसार मां दूर्गा ने असुर महिषासुर का वध यहीं पर किया था और भगवान राम ने वनवास के दौरान यहीं पूजा की थी. वाराणसी से कभी 70 किलोमीटर दूर मिर्जापुर में श्रद्धालु विंध्यवासिनी के दर्शन करने के लिए दूर-दूर से आते हैं. हालांकि यह भी तय है कि साल 2022 विधानसभा चुनाव में विंध्याचल एक चुनावी मुद्दा बन सकता है.