Take a fresh look at your lifestyle.

बैलेंस कटने पर 3 दिन में करें शिकायत, Mobile Wallet कंपनियां करेंगी पैसे वापस

भारत में नोटबंदी के बाद लोग डिजिटल पेमेंट के जरिए पैसों का लेनदेन कर रहे हैं. पेमेंट के लिए कई कंपनियां Mobile Wallet जैसे paytm,amazon pay,phone pay, mobikwick ऐप्लीकेशन उपलब्ध करा रही हैं जिसकी मदद से लोग फोन से पैसों का ट्रांजेक्शन कर रहे हैं. लेकिन ये मोबाइल वॉलेट पूरी तरह से सेफ नहीं थे.

कई बार वॉलेट से फ्रॉड और पैसे गायब होने की खबरें सुनने को मिली हैं.  अगर इन वॉलेट्स के जरिए आपके पैसे भी गायब हुए हैं तो अब इन समस्याओं का समाधान खोज लिया गया है. इन वॉलेट्स कंपनी के लिए RBI ने नए नियम लागू किए हैं.

Mobile Wallet
Mobile Wallet

1. RBIके मुताबिक जो कंपनियां मोबाइल वॉलेट्स की सुविधा दे रही हैं. अब उन कंपनियों को शिकायत दर्ज कराने के लिए कॉन्टेक्ट नंबर, ईमेल आईडी, एसएमएस अलर्ट सुविधा करानी होगी.

2. अब मोबाइल वॉलेट कंपनियों के सभी यूजर्स एसएमएस के जरिए रजिस्टर्ड होंगे. जिसके जरिए कंपनियां ग्राहकों को ट्रांजेक्शन की जानकारी देंगी. ताकि ग्राहकों को अपने हर ट्रांजेक्शन का नोटिफिकेशन एसएमएस, ईमेल के जरिए प्राप्त हो सके.

3. सभी मोबाइल कंपनियों को ग्राहकों को एक कस्टमर केयर नंबर अनिवार्य रुप से उपलब्ध कराना होगा. साथ ही ये नंबर 24/7 एक्टिव रहे. ताकि चोरी फ्रॉड और हैक की स्थिति  में यूजर्स उस नंबर पर शिकायत कर सकें.

4. अगर मोबाइल वॉलेट इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के साथ किसी भी तरह की गड़बड़ी होगी या फिर कोई अवैध लेनदेन होता है तो कंपनी को 3 दिन के अंदर पैसे रिफंड करने होंगे.

5. वॉलेट इस्तेमाल करने वाले ग्राहक के साथ हुई धोखाधड़ी का निपटारा मोबाइल वॉलेट कंपनियों को 90 दिनों के अंदर करना होगा. साथ ही रिफंड की समस्या का समाधान 10 दिनों के अंदर करना होगा.

1 मार्च से KYC  वैरिफिकेशन के न होने के चलते मार्च के महीने से 95 प्रतिशत मोबाइल वॉलेट कंपनियां काम करना बंद कर देंगी. अक्टूबर 2017 में रिजर्व बैंक ने सभी कंपनियों को फरवरी 2019 तक KYC वैरिफिकेशन का काम पूरा करने का आदेश दिया था. जिसे ज्यादातर कंपनियां पूरा नहीं कर पाई हैं. 90 फीसदी से ज्यादा यूजर्स का KYC वैरिफिकेशन नहीं हुआ है.

24 और 48 MP कैमरे के साथ Honor ला रही ये दो नए स्मार्टफोन

Comments are closed.