Azab GazabReligion

रहस्यों से भरा है पद्मनाभ स्वामी मंदिर, जानिए क्या है सातवें दरवाजे का राज

8वीं सदी में त्रावणकोर के राजाओं ने इस पद्मनाभ स्वामी की मूर्ति की स्थापना की थी

इंडिया में कई ऐसी ऐतिहासिक जगह हैं जिनमें रहस्य का अताह गहरा समंदर है. जिनको जानने के लिए वैज्ञानिकों ने भी अपनी पूरी ताकत झोंक दी. लेकिन आज भी उनके लिए सफलता पाना बेहद मुश्किल है. आज हम आपको इंडिया के केरल में स्थित पद्मनाभ स्वामी मंदिर के बारे में कुछ ऐसी रहस्यमयी बाते बताएंगे, जिनपर आपके लिए विश्वास कर पाना थोड़ा मुश्किल होगा.

azab gazab
photo credit-Panchayat Times

1. मान्यताओं के अनुसार 8वीं सदी में त्रावणकोर के राजाओं ने इस पद्मनाभ स्वामी की मूर्ति की स्थापना की थी. इस मंदिर की देख रेख एक शाही परिवार करता है.

2. कहा जाता है कि पद्मनाभ स्वामी मंदिर में लगभग दो लाख करोड़ का सोना है. इतिहासकारों के अनुसार ये राशी का सिर्फ अनुमान लगाया गया है. असल में इसकी कीमत 10 गुना तक ज्यादा हो सकती है.

azab gazab
photo credit-Panchayat Times

3. पद्मनाभ स्वामी मंदिर के खजाने को मंदिर के तहखाने में छिपाया गया था. जिसके बाद इसके दरवाजे को किसी ने भी खोलने की कोशिश नहीं की. लोग इस दरवाजे को शापित दरवाजा भी मानते हैं. जानकारी के लिए बता दें कि इस मंदिर के सातवें दरवाजे को किसी ने भी खोलने की कोशिश की तो उसे जहरीले सांप अपना शिकार बना लेंगे.

पद्मनाभ स्वामी मंदिर
photo credit-Panchayat Times

4. ऐसा माना जाता है कि पद्मनाभ स्वामी मंदिर का सातवां दरवाजा केवल मंत्रो के उच्चारण से ही खुल सकते हैं. इसके अलावा अगर कोई और तरीका अपनाया गया तो मन्दिर उसी समय नष्ट हो जाएगा.

5. पद्मनाभ स्वामी मंदिर का सातवां दरवाजा स्टील की धातु से बना हुआ है. जिसपर दो सांप की आकृति बनी हुई हैं. वहां के लोगों का ऐसा मानना है कि ये सांप उस दिव्य दरवाजे की रक्षा करते हैं.

नन्हीं चीटियों से जुड़े रोचक तथ्य जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

Tags
Show More
Close
Close