FactsHistory

2000 जिंदा लोगों की मीनार बनवा के ईंट-गारा से चुनवा देने वाले नृशंस हत्यारे तैमूरलंग से जुड़ी बातें

तैमूरलंग को इतिहास में एक नृशंस हत्यारे योद्धा के रूप में जाना जाता है. तैमूरलंग 14वीं शताब्दी का सबसे ज्यादा खतरनाक और क्रूर योद्धा था. आइये आज इताहिस के पन्नों में गोते लगाते हुए कुछ बातें जानतें हैं तैमूर के बारे में…

जानिए इतिहास में क्रूरता का दूसरा नाम समझे जाने वाले तैमूरलंग के बारे में-

1- तैमूरलंग का जन्म उज्बेकिस्तान के एक साधारण से परिवार में हुआ था. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि शुरुआत में तैमूर एक मामूली चोर था जो मध्य एशिया के मैदानों और पहाड़ों में भेड़ों की चोरी किया करता था.

courtesy-rochhak

2- चोरी करते हुए तैमूर शक्ति जुटाने लगा और लोगों के बीच खौफ का पर्याय बन गया.

3- आपको बता दें कि तैमूर के नाम से लंग जुड़ने की भी एक कहानी है. दरअसल साल 1369 में जब तैमूर समरकंद का शासक बना. और एक लड़ाई में उसके शरीर का दाहिना हिस्सा घायल हो गया और उसके बाद से ही उसका नाम बिगड़ के तैमूरलंग हो गया.

4- कहा जाता है तैमूर इतना क्रूर था कि उसने करीब 2 हजार जिंदा लोगों की मीनार बनाकर उन्हें ईंट और गारे से चुनवा दिया था.

5- तैमूर 35 साल तक युद्ध में लगातार जीतता रहा.

6- साल 1405 में तैमूर की मौत तब हो गई जब वो चीन के राजा मिंग से लड़ाई के लिए जा रहा था.

7- तैमूर ठीक से चल नहीं पाता था. जब वो चलता था तब उसे अपनी दाहिना पांव घसीटना पड़ता था. इसके बावजूद जो उसके इस शारीरिक अपंगता का मजाक उड़ाते थे, उन्होंने भी युद्ध में तैमूर के सामने अपने घुटने टेक दिए थे. आपको ये भी जानकर हैरानी होगी कि तैमूर ने बाद में तलवार के दम पर नहीं बल्कि कई साम्राज्यों को अपने खौफ के दम पर घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया.

यह भी पढ़ें : हर दिन एक आंवला खा कर बढ़ाएं आंखों की रोशनी, याददाश्त भी होगी मजबूत

Tags
Show More
Close
Close