Take a fresh look at your lifestyle.

इन टैलेंटेड भारतीय क्रिकेटरों पर भारी पड़ी इनकी बदनसीबी

ऐसे शानदार क्रिकेटर जो क्रिकेट में नहीं बना पाए अपना मुकाम

भारतीय क्रिकेट के में कई महान क्रिकेटर रहे हैं जो अपने प्रदर्शन के दम पर क्रिकेट इतिहास में अपना नाम दर्ज करा चुके हैं. भारतीय टीम में हमेशा एक स्टार खिलाड़ी रहा हैं. सचिन, द्रविड़ और गांगुली ने 1990 के दशक में अपनी बल्लेबाज़ी का लोहा मनवाया. वर्तमान में धोनी, कोहली और रोहित भारतीय टीम के स्टार खिलाड़ी हैं.

साल 2000 के बाद कई खिलाड़ियों ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा लेकिन उन्हें ज्यादा मौके ना मिलने की वजह से उनका क्रिकेट करियर लगभग खत्म होने की कगार पर आ गया है. आज हम इन्हीं खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे.

suresh-raina

सुरेश रैना

रैना ने 2005 में अपने वनडे करियर की शुरुआत की थी हालाँकि, उन्हें अपने पहले 11 वनडे मैचों में केवल पांच बार बल्लेबाजी करने का मौका मिला. रैना अक्सर नंबर 5 और 6 पर बल्लेबाजी की है. पर उन्होंने टीम को कई मैच जीताए हैं. वनडे करियर में रैना ने पांच शतक जड़े हैं. रैना आईपीएल इतिहास में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं. रैना टी20 के एक शानदार खिलाड़ी के तौर पर पूरी दुनिया में जाने जाते हैं. इन सबके बावजूद रैना क्रिकेट में वो मुकाम नहीं बना पाए. ऐसे में रैना का टीम में वापसी कर पाना मुश्किल लगता है.

Dinesh Karthik

दिनेश कार्तिक

विकेटकीपर-बल्लेबाज कार्तिक ने 2004 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना कदम रखा. पर उनकी शुरुआत कुछ खास नहीं रही. उसके बाद भारतीय टीम को एमएस धोनी जैसा खिलाड़ी मिला जिसके बाद कार्तिक को उनसे नीचे आंका जाने लगा. धोनी के शानदार प्रदर्शन के चलते कार्तिक को खेलने का ज्यादा मौका नहीं मिल पाया. तब से कार्तिक भारतीय टीम से अंदर-बाहर होते रहे हैं. उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज से हटा दिया गया है.

Robin Uthappa

रॉबिन उथप्पा

रॉबिन उथप्पा एक आक्रामक सलामी बल्लेबाज के रूप में टीम इंडिया में शामिल हुए थे. उन्हें 2005 में पहली बार भारतीय टीम के लिए खेलने का मौका मिला. 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने वनडे डेब्यू में उथप्पा ने शानदार 86 रन बनाए थे. लेकिन उसके बाद, उथप्पा को अपना बल्लेबाज़ी कौशल दिखाने के ज़्यादा मौके नहीं मिले. 2008 के बाद, उन्हें 2014 में एक और अवसर मिला, लेकिन शिखर धवन और रोहित शर्मा के लगातार बेहतरीन प्रदर्शन करने के साथ उनकी ये उम्मीद भी खत्म हो गई.

Comments are closed.