Take a fresh look at your lifestyle.

जानिए इस झील में जाते ही हर कोई कैसे बन जाता है पत्थर ?

फोटोग्राफर ने अपनी किताब में किया झील के रहस्य का जिक्र

राजा मिडास की कहानी से तो आप वाखिफ होंगे ही जो किसी चीज़ को भी छूता था वो सोने की बन जाती है. आज उसी की तरह हम आपको एक और विचित्र बात बताते हैं. एक झील जिसके पानी को छूते ही हर कोई पत्थर बन जाता है. आपको बताते हैं इस झील के बारे में कुछ खास बातें.

उत्तरी तंजानिया में ऐसी ही झील मौजूद है जिसे नेट्रान लेक कहा जाता है. ‘Across the Ravaged Land’ नाम की एक किताब में फोटोग्राफर निक ब्रांड्ट ने इस बात का खुलासा किया है. ब्रांड्ट के मुताबिक तंजानिया की इस झील के आस-पास का दृश्य बेहद चौंकाने वाला है. झील के किनारे जगह-जगह पशु-पक्षियों के statue देखे गए. वे statue असली मृत पशु-पक्षियों के थे. जो झील के संपर्क में आने से ऐसे हो चुके थे.

झील में है नमक और सोडा

दरअसल झील में नमक और सोडा की मात्रा बहुत ज्यादा है इतनी ज्यादा कि झील के पानी में जाने वाले पशु-पक्षी क्लासिफाइड होकर बाद में पत्थर बन जाते हैं. फोटोग्राफर ने बताया कि नमक और सोडा के कारण उनकी कोडक फिल्म बॉक्स की स्याही भी पूरी तरह से जम गयी. यही वजह है कि पानी में नमक और सोडा की अधिक मात्रा पशु-पक्षी के मृत शरीर को सुरक्षित रखती है.

किताब में है मृत पक्षियों का कलेक्शन

सारे जानवर calcification के कारण चट्टान की तरह मजबूत हो चुके थे. इसलिए बेहतर फोटो लेने के लिए हम उनमे किसी भी तरह का बदलाव नहीं कर सकते थे. इसलिए फोटो लेने के लिए हमने उन्हें वैसी ही अवस्था में पेड़ों और चट्टानों पर रख दिया. इन पक्षियों के फोटो का कलेक्शन भी ने अपनी नयी किताब Across the Ravaged Land में पेश किया है. ये किताब उस फोटोग्राफी डाक्यूमेंट्री का तीसरा वॉल्यूम है, जिसे निक ने पूर्वी अफ्रीका में जानवरों के गायब होने पर लिखा है.

पानी में alkaline का स्तर ph9 से ph 10. 5 है. यानी बहुत ज्यादा एल्कलाइन. बता दें पानी में वह तत्व भी पाया गया जो ज्वालामुखी की राख में होता है। इस तत्व का प्रयोग मिस्रवासी ममियों को सुरक्षित करने के लिए रखते थे.

ये भी पढ़ें:- वाराणसी के इस घर में क्या है ऐसा कि मरने के लिए जाते हैं लोग ?

Comments are closed.