Take a fresh look at your lifestyle.

दुनिया में कितने तरह के Hackers होते हैं, यहां जानिये

आज हम आपको बताने जा रहे हैं उन Hackers के बारे में जिनके बारे में शायद आपने पहले कभी नहीं सुना होगा तो चलिये बताते हैं आपको कौन होते है ये हैकर्स और क्या होता है इनका काम…

  • White Hat Hackers: वाइट हैट हैकर वो हैकर होते हैं जो किसी सर्टिफाइड इंस्टिट्यूट से बाकायदा नेटवर्क और पेनेट्रेशन की पूरी ट्रेनिंग लेते हैं और आपकी परमिशन से आपके कंप्यूटर या सॉफ्टवेयर को हैक करके उसमे छिपे बग को ढूंढते है इनको बड़ी बड़ी कंपनियों में अच्छी सैलरी पर सिक्यूरिटी कंसल्टैंट के तौर पर रखा जाता है।  ये कई बार साइबर क्राइम को रोकने के लिए पुलिस के साथ भी काम करते है इनको हम लोग एथिकल हैकर्स के नाम से भी जानते हैं।
  • Black Hat  Hackers : ये हैकर्स मूलरूप से क्रिमिनल्स की श्रेणी में आते हैं ये आपकी जानकारी के बिना आपके कंप्यूटर या सॉफ्टवेयर से डाटा चुराते है जिसका उपयोग ये अपने निजी फायदों या आपको ब्लैकमेल करने के लिए करते है ये हैकर्स एथिकल हैकर्स से एकदम विपरीत होते हैं। इनको क्रैकर्स के रूप में भी जाना जाता है।  इनको आप इनके दुर्भावना पूर्ण कृत्यों के आधार पर आसानी से पहचान सकते हैं।
  • Grey Hat Hackers: इन हैकर्स को आप वाइट और ब्लैक हैट हैकर्स के मध्य में रख सकते हैं ये अपनी स्किल का उपयोग न तो अच्छे काम के लिए करते हैं न ही बुरे काम के लिए ये पूरी तरह से स्वत्रन्त्र होते है या यूँ कहें की ये भी ब्लैक हैट हैकर्स की तरह ऑथॉराइज़ नहीं होते और समय समय पे कभी पुलिस या सरकारों की मदद करते है या फिर अपने मनोरंजन के लिए किसी को परेशान।
  • Script Kiddies: इनको हैकर्स के टर्म में सबसे खतरनाक माना जाता  इनको हैकिंग की कोई जानकारी नहीं होती ये  दुसरे हैकर्स के बनाये हुए टूल्स और स्क्रिप्ट को डाउनलोड  करके कंप्यूटर सिस्टम या नेटवर्क या किसी वेबसाइट को बिगाड़ देते हैं ये सब वो अपने दोस्तों के बीच प्रशंसा पाने के लिए करते है ये हैकर्स ज्यादातर नाबालिग होते हैं।
  • Green  Hat  Hackers : ये हैकर्स भी नौसीखिया ही होते हैं लेकिन ये स्क्रिप्ट किडीज से थोड़ा अलग होते हैं ये हैकिंग को सीरियसली  और ये जानते हैं की ये क्या कर रहे हैं ये सीखने को तत्पर रहते है जिससे एक दिन बड़े हैकर्स बन पाएं इसके लिए ये हैकर्स से प्रश्न पुष्टि है और उसके नोट्स बनाकर अपनी स्किल्स को और ज्यादा तेज़ करने के प्रयास में लगे रहते हैं
  • Blue Hat  Hackers : ब्लू हैट हैकर्स  भी स्क्रिप्ट किडीज की तरह होते है लेकिन इनको रिवेंज टेकर के तौर पर भी जाना जाता है इनको भी हैकिंग की कोई जानकारी नहीं होती लेकिन जब कोई इनको चैलेंज करता है तो ये उसको सबक सिखाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं इनके अंदर भी स्क्रिप्ट किडीज की तरह सीखने की कोई चाहत नहीं होती।
  • Red Hat Hackers : ये हैकर्स ईगल-आइड हैकर्स के नाम से जाने जाते  हैं।  वाइट हैट हैकर्स की तरह ही रेड हैट हैकर्स का भी मेन टारगेट ब्लैकहैट हैकर्स को रोकना ही होता है लेकिन इनके काम करने का तरीका वाइट से अलग और आक्रामक होता है ये ब्लैक हैट हैकर्स के सिस्टम पर तब तक मैलवेयर अटैक करते रहते है जब तक वो अपने सिस्टम को बदलने पर या  रोकने पर मजबूर न  हो जाए।
  • State / Nation Sponsored Hackers : ये वो हैकर्स होते हैं जिनको सरकार अपनी तकनीकी सुरक्षा के लिए नियुक्त  करती है या फिर दुसरे देशो  खुफिया जानकारी निकलने के लिए जिससे वे  किसी भी प्रकार के आने वाले खतरे के लिए तैयार रख सकें इन हैकर्स को सर्कार  हैवी सैलरी पे की जाती है।
  • Hacktivist : हैक्टिविस्ट को आम तौर पर हम आंदोलनकारियों का एक ऑनलाइन संस्करण कह सकते हैं ये वो हैकर या एनोनिमस हैकर्स का वो ग्रुप होता है जो खूफ़िया सरकारी दस्तावेजों को अनएथिकल  तरीके से  प्राप्त करके अलग अलग सामाजिक और राजनीतिक फायदों के लिए इस्तेमाल करते हैं।
  • Malicious Insider or Whistleblower: ये कोई कंपनी हो  किसी कंपनी  एम्प्लॉई हो सकता है  कोई सरकारी संस्था हो सकती है जिसे सरकार  के या कंपनी के अंदर होने वाले गलत कार्यों का पता चल जाता है जिसका उपयोग वो तथाकथित एजेंसी को ब्लैकमेल करके अपने निजीफायदे के लिए करता है।

Leave A Reply