Take a fresh look at your lifestyle.

IPL में खलने के लिए क्यों तरसते हैं दुनियाभर के खिलाड़ी

IPL Facts :

दुनिया में इस वक्त क्रिकेट में टी20 लीग का धमाल मचा हुआ है. इससे क्रिकेट में नया युग शुरू हो गया है. इस तरह की लीग से जहां धुरंधर खिलाड़ियों, रिटायरमेंट लेने वाले खिलाड़ियों और नये व युवा खिलाड़ियों को मौका मिलता है. क्रिकेट प्रेमियों का भी खेल के प्रति आकर्षण और बढ़ गया है. लेकिन बाकी टी20 लाग से अलग क्यों है IPL? आइए जानते हैं

कैसे हुई IPL की शुरुआत

साल 2007 में दक्षिण अफ्रीका में आयोजित पहला अंतरराष्ट्रीय विश्वकप में भारत के जीतने के कुछ माह बाद ही BCCI ने IPL की शुरुआत की. भारी संख्या में लोग इस नये फार्मेट की आलोचना भी कर रहे थे. इन सबके बावजूद टी20 के नये फॉर्मेट को लेकर फैंस और दर्शक काफी उत्साहित थे. इसके साथ बड़े व्यवसायी और बॉलीवुड स्टार भी IPL का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे.

आईपीएल
IPL TROPHY

T20 में IPL ने लाया क्रांति

आज विश्व के सारे क्रिकेट बोर्डों की अपनी टी20 लीग हैं. 2018 में एसोसिएट देश कनाडा और अफगानिस्तान की भी अपनी टी20 लीग शुरू हो गई है. अपनी शुरुआत से अब तक IPL अपनी गरीमा को बनाये हुए हैं और आज दुनिया भर की टी20 लीग्स में IPL का अपना अलग स्थान है और आज दुनिया भर के खिलाड़ी IPL में खेलने को तरसते रहते हैं.

सबसे उमदा क्रिकेट लीग है IPL

आईपीएल ने टी20 फॉर्मेट को लोकप्रिय बनाने के लिए सबसे पहले खेल के स्तर को ऊंचा उठाया है. आईपीएल ने अपने टूर्नामेंट में उम्दा खेल का प्रदर्शन किया है. सबसे अधिक ट्रांसपेरेंसी होने के कारण आईपीएल दुनिया भर में सबसे अधिक लोकप्रिय है. आईपीएल में शामिल सभी फ्रेंचाइजी टीमों को समान अवसर मिलते हैं.

IPL 2019

विदेशी खिलाड़ियों के लिए बेस्ट है IPL

IPL विदेशी खिलाड़ियों को अच्छा मौका देती है. विदेशी खिलाड़ियों और आईपीएल टीमों के बीच संपर्क करने और अनुबंध करने के नियम इतने सरल हैं कि दोनों में से किसी को परेशानी नहीं होती है. परेशानी न होने के कारण विदेशी खिलाड़ी सबसे अधिक आईपीएल में भाग लेना पसंद करते हैं.

घरेलू खिलाड़ियों का भविष्य है IPL

घरेलू खिलाड़ियों के लिए आईपीएल एक भविष्य है. वो इस प्लेटफार्म से प्रदर्शन कर दुनियाभर के लोगों को आकर्षित कर सकते हैं. इसी प्रदर्शन के आधार पर वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड और चयनकर्ताओं का ध्यान आकर्षित कर पाने में सफल हो जाते हैं. इससे जहां नये खिलाड़ियों को लाभ मिलता है वहीं बोर्ड को भी अच्छे खिलाड़ी मिल जाते हैं.

Comments are closed.