LifestyleTravel

दुनिया के देशों में काम करने के नियम जानकर आप भी यहां पर ही काम करना चाहेंगे

भारत में प्राइवेट सेक्टर हो या सरकारी विभाग के लोग अक्सर अपने काम करने के नियमों से असंतुष्ट दिखाई देते हैं. साउथ एशियन जर्नल ऑफ ग्लोबल बिजनेस रिसर्च (South Asian Journal of Global Research) ने पूरी दुनिया के देशों में सरकारी एवं प्राइवेट सेक्टरों में कार्यरत कंपनियों के नियमों का अध्ययन किया और दुनिया के सबसे बेहतरीन नियमों को अपने जर्नल में जगह दी जिन्हें जानकर आप भी इन देशों की कंपनियों में ही काम करना चाहेंगे.

काम करने के
Source-Truth in Employment

1. पढ़ने के लिए ब्रेक

UAE में सरकार ने वहां कार्यरत सभी सरकारी दफ्तरों में “National law of reading” लागू किया है जिसके अंतर्गत आपको काम करने के बीच में पढ़ाई करने के लिए कम से कम दो घंटे का फ्री समय दिया जाएगा.

2. 3 दिनों का कार्य सप्ताह

नीदरलैंड में सरकार ने लोगों के काम और जीवन के बीच में संतुलन बनाए रखने के लिए 3 दिनों का कार्य सप्ताह बनाने का नियम लागू किया है. इसके साथ ही नीदरलैंड में कंपनियां अभिभावकों को मातृत्व और साथ ही पितृत्व सुख के लिए बिना सैलरी काटे पूरी छुट्टियां भी देती हैं.

3. ऑस्ट्रिया में आवश्यक छुट्टी

ऑस्ट्रिया में कर्मचारियों को हर साल 22 दिनों के लिए सैलरी सहित छुट्टी पर भेजा जाता है और अगर आपका काम करने का अनुभव कम से कम 25 साल का है तो फिर आपको छ्ट्टी के 13अतिरिक्त दिन मिलेंगे, अपनी अनिवार्य छुट्टी के दौरान ऑफिस में काम करने वाले लोगों को उतने दिनों की दुगुनी सैलरी दी जाती है.

4. यात्रा समय काम के समय में शामिल

यूरोपियन कोर्ट ऑफ जस्टिस (European Court of Justice) के एक आदेशानुसार किसी भी कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों को ऑफिस पहुँचने में लगने वाला समय उनके काम करने के समय में गिना जाएगा. यह नियम कर्मचारियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है.

5.  कंपनी अपने कर्मचारी को निकाल नहीं सकती

पुर्तगाल में किसी भी कंपनी में कार्यरत कर्मचारी को उसका मालिक किसी भी परिस्थिति में कंपनी से बाहर नहीं निकाल सकता है. कर्मचारी को भरपूर मात्रा में मुआवजा देने और कर्मचारी के संतुष्ट होने पर ही कर्मचारी को किसी कंपनी से निकाला जा सकता है.

6. काम के दौरान नींद

जापान में ऐसा माना जाता है कि काम करने के दौरान बीच में थोड़ी देर की नींद (Nap) लेने से कर्मचारी का कंपनी में प्रदर्शन और उत्पादकता पहले से अच्छी हो सकती है इसलिए जापान में प्रत्येक कर्मचारी को अनिवार्य रूप से थोड़ी देर नींद लेने की छूट होती है.

Tags
Show More
Close
Close